बंद करे

त्रियुंड

दिशा
श्रेणी अन्य

त्रियुंड धर्मशाला का मुकुट है, धौलाधार के पहाड़ों की गोद में स्थित है, इसके एक तरफ से धौलाधार के पहाड़ और दूसरी तरफ कांगड़ा घाटी नजर आती है। त्रियुंड एक बहुत लोकप्रिय ट्रैकिंग स्थान है त्रियुंड भारत और दुनिया भर से हर साल बहुत से पर्यटकों को आकर्षित करता है| त्रियुंड ट्रेक को एक शांत ट्रेक के रूप में वर्णित किया जा सकता है जिसे लगभग सभी आयु वर्गों द्वारा आसानी से पूरा किया जा सकता है। त्रियुंड एक अनोखा रास्ता है जो ओक, देवदार और गुरांस (रोडोडेंड्रोन) के सुंदर मिश्रित जंगल के मध्य से होके जाता है। पहले पांच किलोमीटर के लिए रास्ता काफी आसान है, लेकिन अंतिम एक किलोमीटर के रस्ते लिए परिश्रम की आवश्यकता हो सकती है, आखिरी एक किलोमीटर को लोकप्रिय रूप से “22 मोड़” कहा जाता है क्योंकि इसमें 22 छोटे बड़े मोड़ हैं| त्रियुंड में एक विश्राम गृह भी है जो जंगलात विभाग(पर्यावरणीय पर्यटन) के अंतर्गत आता है, ट्रैकर यहाँ रात भी बिता सकते हैं, या अपने टेंट लगा कर भी प्रकृति का आनंद ले सकते हैं| त्रियुंड ट्रेक की शुरुआत गलू से होती है या आप मक्लोडगंज से भी अपना ट्रेक शुरू कर सकते हैं|

फोटो गैलरी

  • त्रियुंड का दृश्य
  • त्रियुंड का दृश्य
  • त्रियुंड का दृश्य

कैसे पहुंचें:

बाय एयर

गगल हवाई अड्डा, त्रियुंड का नजदीकी हवाई अड्डा है, जो धर्मशाला से केवल 10 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा दिल्ली से उड़ानों के साथ जुड़ा हुआ है। पर्यटक यहाँ से धर्मशाला के लिये बस द्वारा पहुँच सकते हैं या यहाँ से टैक्सी भी कराए पर ले सकते हैं, बस और टैक्सी दोनों की सुविधा यहाँ आसानी से उपलब्ध है| दूरभाष : 01892-232374

ट्रेन द्वारा

निकटतम ब्रॉड गेज स्टेशन पठानकोट कैंट (चक्की बैंक) व पठानकोट शहर रेलवे स्टेशन है जो कि मक्लोडगंज से 91 कि.मी. और धर्मशाला से 88 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। पठानकोट से टैक्सी व बसों की सुविधा उपलब्ध है | स्टेशन अधीक्षक पठानकोट : 01862-220417

सड़क के द्वारा

त्रियुंड के लिये मक्लोडगंज से या फिर धर्मशाला से पहुंचा जा सकता है। नई दिल्ली से धर्मशाला की दूरी लगभग 490 कि.मी. है। दिल्ली से धर्मशाला व मक्लोडगंज के लिये वोल्वो बस ले सकते हैं या गंतव्य के लिए टैक्सी भी सीधे किराए पर ले सकते हैं। दूरभाष : बस स्टैंड पठानकोट :- 01862-226966